September 29, 2018

सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की तरह विकसित हो रहा यह सरकारी स्कूल

पांचवी तक कौरिनभाठा में प्राइमरी स्कूल में पढ़ाई कर पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी मॉडल स्कूल में एडमिशन लेने वाली लक्ष्मी के लिए यह स्कूल अद्भुत सपने जैसा है। सुंदर सजी हुई दीवारें, किताबें रखने के लिए सुंदर सी डेस्क, प्रोजेक्टर से पढ़ाई और खेलने के लिए इतना बड़ा कोर्ट। ड्रामे के लिए इतना बड़ा एंफीथियेटर। यहाँ पढ़ने वाला हर बच्चा उत्सुकता से भरा हुआ है और पढ़ाई उसके लिए बहुत खूबसूरत चीज बन गई है। इस सुंदर अधोसंरचना वाले स्कूल में पढ़ाई के हाइटेक तरीके और सीखने की नई पद्धतियाँ भी शामिल की गई हैं।

टीचिंग स्टाफ की दृष्टि से भी यह स्कूल सचमुच मॉडल स्कूल है और शहर के सर्वोत्तम इंग्लिश मीडियम स्कूलों को बराबरी से प्रतिस्पर्धा दे सकता है। जिस प्रकार केंद्र सरकार के केंद्रीय विद्यालय और नवोदय विद्यालय हर जिले में मॉडल स्कूल के रूप में होते हैं। उसी प्रकार सेंटर आफ एक्सीलेंस के रूप में जिले के एक विद्यालय को विकसित करने कलेक्टर श्री भीम सिंह ने पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी स्कूल को चुना। श्री सिंह ने विद्यार्थियों के समग्र विकास के लिए इसमें स्पोर्ट्स और कलात्मक गतिविधियों को विशेष रूप से शामिल कराया।

पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी स्कूल का चयन क्यों  ... स्कूल के ठीक सामने एजुकेशन हब बनाया जा रहा है। इसमें बारहवीं के पश्चात सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग एवं करियर संबंधी मार्गदर्शन दिया जाएगा। बख्शी स्कूल छात्राओं का स्कूल है और यहाँ लगभग 400 लड़कियाँ पढ़ रही हैं। इस स्कूल को मजबूत करने, इसमें अत्याधुनिक सुविधाएं प्रदान करने से बड़ी संख्या में लड़कियों का उवल भविष्य दिलाने में सहयोग मिलेगा।

साफ्टवेयर की मदद से बेहतर इंग्लिश ... भाषा और गणित इन दो विषयों को लेकर स्कूल में विशेष फोकस किया जा रहा है। वर्चुअल एजुकेशन क्लास में साफ्टवेयर इंग्लिश से संबंधी बच्चों का एक टेस्ट लेगा। टेस्ट से मूल्यांकन के पश्चात बच्चों के स्तर के मुताबिक आगे की अंग्रेजी की पढ़ाई आरंभ करेगा। यूनिसेफ कंसल्टेंट सुश्री शिखा राणा ने बताया कि आज के प्रतियोगी समय में इंग्लिश भी एक हुनर की तरह है। इस साफ्टवेयर में अ˜ुत बात यह है कि यह आपके अंग्रेजी ज्ञान के स्तर को पकड़ लेता है और वहीं से अपनी क्लासेस आरंभ करता है।

स्पोर्ट्स में भी आगे ... परिसर में खेलों के लिए भरपूर जगह है। बैडमिंटन, वॉलीबाल एवं बास्केटबॉल कोर्ट तैयार किए गए हैं। इसके चलते पढ़ाई के साथ ही फिजिकल फिटनेस के लिए भी लड़कियों के लिए रास्ता खुला रहेगा।

एंफीथियेटर से निखरेगी कलाकारी...बच्चों के व्यक्तित्व विकास में पढ़ाई के साथ ही कला का भी अहम योगदान होता है। कला के निखार के लिए यहाँ एंफीथियेटर का निर्माण कराया गया है। बच्चों में छिपी कला को निखारने अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति भी की जाएगी।

प्रतिष्ठित स्कूलों का किया निरीक्षण, सबसे अच्छी बातें लीं और किया मॉडल स्कूल में किया समावेश ... मॉडल स्कूल बनाने के लिए सबसे प्रतिष्ठित स्कूलों का निरीक्षण शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने किया। यहाँ स्कूल से संबंधी अधोसंरचना के साथ ही पढ़ाई के तकनीकी माध्यमों की जानकारी भी ली गई। इसके अलावा स्पोर्ट्स तथा कला के क्षेत्र में इनकी गतिविधियों की भी जानकारी ली गई और मॉडल स्कूल के निर्माण में इन सभी बातों का खास ख्याल रखा गया।  

सैनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन भी ... छात्राओं की सुविधा के लिए स्कूल में सैनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन भी लगाई गई है।

और स्टोरीज़ पढ़ें
से...

इससे जुड़ी स्टोरीज़

No items found.
© 2018 YourStory Media Pvt. Ltd. - All Rights Reserved
In partnership with Dept. of Public Relations, Govt. of Chhattisgarh