May 16, 2018

छत्तीसगढ़ में हुआ इनोवेशन सेंटर का लोकार्पण, युवा स्टार्टअप उद्यमियो को मिलेगा प्रोत्साहन

"छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के पहले स्टार्टअप इन्क्यूबेशन सेण्टर '36 इंक' का लोकार्पण किया। यह देश का दूसरा सबसे बड़ा इन्क्यूबेशन सेंटर है। इस सेंटर में स्टार्टअप उद्यमियों के लिए नई से नई टेक्नोलॉजी से लैस नवीनतम उपकरण उपलब्ध हैं।" 

युवा उद्यमियों के साथ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सेंटर के अंतर्गत बनाये जाने वाले अनेक लैब उद्यमियों को बड़ा लाभ प्रदान करेंगे। 36inc सेंटर इसलिए भी देश में सर्वश्रेष्ठ माना जायेगा क्योंकि इस सेंटर में रैपिड प्रोटोटाइपिंग लैब वाली मशीने होंगी। जिसका उपयोग आईडिया को धरातल पर लाने के लिए किया जाएगा।

उद्यम के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने वाले प्रतिभावान युवाओं को संसाधन की कमी से कहीं भटकना न पड़े इसके लिए छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के पहले स्टार्टअप इन्क्यूबेशन सेण्टर '36 इंक' का लोकार्पण किया। यह देश का दूसरा सबसे बड़ा इन्क्यूबेशन सेंटर है। इस सेंटर में स्टार्टअप उद्यमियों के लिए नई से नई टेक्नोलॉजी से लैस नवीनतम उपकरण उपलब्ध हैं। लगभग 30 हजार वर्ग फीट में स्थापित इस केन्द्र में थ्री-डी प्रिंटर्स, लेज़र कटर, इलेक्ट्रॉनिक्स टेस्टिंग और मल्टीमीडिया प्रॉडक्शन जैसी सुविधाएं उद्यमियों को उपलब्ध होंगी और जो बात सराहनीय है, वो ये है कि इस केन्द्र के लोकार्पण के साथ ही यहां 125 स्टार्टअप उद्यमियों ने अपना काम भी शुरू कर दिया है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के युवा स्टार्टअप उद्यमियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा, 'पूरे मन से काम करें, सफलता अवश्य मिलेगी। जो मन से करता है, वह कभी पराजित नहीं होता।' उन्होंने युवा उद्यमियों को सफलता के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि स्टार्टअप को आगे बढ़ाने के लिए राज्य शासन द्वारा हर संभव सहयोग दिया जाएगा। छत्तीसगढ़ के लिए यह महत्वपूर्ण उपलब्धि है कि यह सेंटर देश का दूसरा सबसे बड़ा सेंटर है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने युवा स्टार्टअप उद्यमियों द्वारा विकसित किए गए 5 नये प्रोडक्ट्स का भी शुभारंभ किया।

इनमें हिन्दी और छत्तीसगढ़ी भाषा में विकसित किये गये 'मेडिक्लिक मोबाईल ऐप', बिजनेस कंसल्टेंशन के लिए छत्तीसगढ़ी भाषा में 'माई अगला कदम', कृषि कार्यों के लिए गोवत्स, दिव्यांगों के लिए ट्राईसाईकिल, शिक्षा क्षेत्र के लिए 'स्कॉलरबज' और रायपुर बाजार प्रॉडक्ट शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि “देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी युवाओं को उद्यम को प्रोत्साहित करने के लिए के लिए कई कदम उठा रहे हैं। 36 इंक की स्थापना पीएम मोदी के विचारों को आगे बढ़ने की दिशा में ठोस कदम है।”

युवा उद्यमी का हौसला बढ़ाते मुख्यमंत्रीमुख्यमंत्री ने कहा, कि 'इस जगह को प्रदेश के युवा योजना बनाकर नए विचारों को मूर्त रूप दे सकेंगे। उनके लिए गाइडेंस के लिए टीम मौजूद रहेगी। इसके लिए नीति आयोग और ऐलेक्स को शुक्रिया। ये छत्तीसगढ़ के भविष्य की सफलता की कहानी लिखेगा। इस प्रयोग का सपना हमने बेंगलुरू में देखा था जो आज साकार हुआ। ये छत्तीसगढ़ के युवाओं के लिए नया मोड़ साबित होगा।'36inc इन्क्यूबेशन सेंटर को केंद्र सरकार द्वारा अटल अभिनव केंद्र बनाने के लिए 3 गैर शैक्षणिक इन्क्यूबेटरों में से एक के रूप में चुना गया है।

ध्यान देने वाली बात यह है कि पूरे देश से प्राप्त लगभग 2,000 आवेदनों में से राज्य 36inc इन्क्यूबेशन सेंटर का चयन हुआ। इस मौके पर मुख्यमंत्री के साथ अटल इनोवेशन मिशन के डायरेक्टर रामनन रामनाथन भी मौजूद थे। उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री का विजन है पूरे देश में नवाचार और उद्यम को बढ़ावा देना। उसी के तहत 36inc की स्थापना की गई। हमें उम्मीद है कि इस सेंटर से कई वर्ल्ड क्लास स्टार्टअप सामने निकलकर आएंगे और वे न केवल छत्तीसगढ़ की सेवा करेंगे बल्कि पूरे देश के लिए फायदेमंद साबित होंगे। यह हम सबके लिए गर्व की बात है।'

छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसाइटी (CHIPS) के सीईओ ऐलेक्स पॉल मेनन ने बताया कि यह छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा समर्थित राज्य का पहला कोर इन्क्यूबेशनस-कम-एक्सीलरेटर सेंटर है। 36inc संस्थान सम्पूर्ण राज्य में नेटवर्क और इनक्यूबेटर-कम-एक्सीलरेटर हब के रूप में कार्य करेगा। इसका मुख्य उद्देश्य एक ऐसे मंच का निर्माण करना है जिसमें सभी को समान अवसर मिले।

संस्थान में हब और स्पोक मॉडल लगा होगा, जिससे विभिन्न महाविद्यालयों की ई-सेल और महाविद्यालय स्तर के इंक्यूबेटर इस संस्थान से जुड़ेंगे। सेंटर के अंतर्गत बनाये जाने वाले अनेक लैब उद्यमियों को बड़ा लाभ प्रदान करेंगे। 36inc सेंटर इसलिए भी देश में सर्वश्रेष्ठ माना जायेगा क्योंकि इस सेंटर में रैपिड प्रोटोटाइपिंग लैब वाली मशीने होंगी। जिसका उपयोग आईडिया को धरातल पर लाने के लिए किया जाएगा।

और स्टोरीज़ पढ़ें
से...

इससे जुड़ी स्टोरीज़

No items found.
© 2018 YourStory Media Pvt. Ltd. - All Rights Reserved
In partnership with Dept. of Public Relations, Govt. of Chhattisgarh